मरने के बाद भूत और प्रेत आत्माओं की चर्चा तो जोरों पर रहती है, लेकिन अंतिम संस्कार के बाद किसी के घर लौट आने की बात पर लोग जल्दी भरोसा नहीं करेंगे। ऐसा ही एक मामला यूपी के रामपुर में सामने आया है, जहां पर एक लड़की दाह संस्कार के एक दिन बाद ही घर लौट आई। उसको देखने के बाद लोग डर गए, लेकिन सच पता चला तो लोग खुश भी हुए।

रामपुर जिले के स्वार थाना क्षेत्र में एक खेत से लड़की का अधजला शव मिला था। इसके बाद ग्रामीणों और लोगों की भीड़ लग गई। जब इसकी सूचना लोगों ने पुलिस को दी तो पुलिस मौके पर पहुंची और शव कब्जे में लेकर पोस्टमॉर्टम कराने को भेज दिया। जब पुलिस ने शव की पहचान कराई तो गांव भूवरी के रहने वाले भूप सिंह ने शव को अपनी बेटी राजरानी का बता कर पहचान की। उन्होंने पुलिस को बताया कि उसकी बेटी राजरानी अक्सर घर से कई-कई दिनों के लिए गायब हो जाती है और पिछले 15 दिन से लापता है। इसके बाद उन्होंने अज्ञात के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज करवा कर परसों शव का अंतिम संस्कार भी कर दिया।

Also Read:   पिता बनने की खुशी में खा गया पत्नी का प्लेसेंटा

पुलिस अपनी जांच आगे बढ़ाती, उससे पहले ही कहानी में नया मोड़ आ गया। 24 घंटे बाद ही लापता युवती जीवित लौट आई। उसके पिता ने बताया कि उनके बड़े दामाद राकेश कुमार दिल्ली में टेलरिंग करते हैं। वो दामाद कल ही दिल्ली से घर आ रहे थे। उनको मुरादाबाद रेलवे स्टेशन पर लापता बेटी मिल गई। वो उसे घर ले आए। पुलिस भी हुई हैरान भूप सिंह अपनी लड़की को जिंदा देख काफी खुश हैं। परिवार के लोग फौरन राजरानी को लेकर पुलिस के पास पहुंचे और उसके घर सकुशल लौट आने की बात कही।

Also Read:   बाप रे! इस शख्स की दाढ़ी में मधुमक्खियों ने बना लिया घर, देखिये वीडियो

वह दिमाग से कमजोर होने के कारण कुछ बताने की स्थिति में नहीं है। पुलिस को भी जब उसके जीवित लौट आने की जानकारी मिली तो उनके होश उड़ गए। क्या कहती है पुलिस थाना प्रभारी स्वार मनोज कुमार पुलिस जिस घटना की तफ्तीश राजरानी की हत्या मानकर आगे बढ़ा रही थी, अब उसके सामने दूसरी चुनौती खड़ी हो गई है। मृतका जब राजरानी नहीं है तो फिर शव किसका था और किन परिस्थितियों में खेत तक पहुंचा या फिर खेत में ही हत्या कर जलाया गया। पुलिस ने नए सिरे से अज्ञात की हत्या की पड़ताल शुरू की है।

Also Read:   बॉयफ्रेंड का प्रपोज़ल सुनकर स्टेज से गिर पड़ी लड़की, देखिये वीडियो

भूप सिंह ने जब अधजले शव की पहचान अपनी बेटी राजरानी के रूप में की थी, तब उसकी पत्नी चंद्रवती ने शव को बेटी होने से इनकार किया था। वो कहती रहीं कि शव उसकी बेटी का नहीं है। मां होने के नाते अपनी बात पर कायम रहीं, लेकिन उनकी किसी ने नहीं सुनी। अब बेटी के जीवित लौट आने पर लोगों में इस बात को लेकर चर्चा होती रही।

No more articles