Lafdatv Hindi

देश अब शाकाहारी लोगों के लिए आगया है शाकाहारी कोंडोम

अब शाकाहारी लोगों के लिए आगया है शाकाहारी कोंडोम

सेक्स करने की जब भी बात आती है तो पहला सवाल उठता है सुरक्षा। सुरक्षा अनचाहे गर्भ से, सुरक्षा किसी भी सेक्सुयल बीमारी से। आज तक आपने कंडोम के काफी सारे फ्लेवर्स के बारे में सुना होगा। लेकिन क्या अपने कभी किसी शाकाहारी कंडोम के बारे में सुना है? नहीं ना। खैर आज हम आपको एक नए कंडोम के बारे में बताने वाले हैं जो पूरी तरह से इको फ्रेंडली एवं शाकाहारी है।


By Lafdatv - February 15, 2018



सेक्स करने की जब भी बात आती है तो पहला सवाल उठता है सुरक्षा। सुरक्षा अनचाहे गर्भ से, सुरक्षा किसी भी सेक्सुयल बीमारी से। आज तक आपने कंडोम के काफी सारे फ्लेवर्स के बारे में सुना होगा। लेकिन क्या अपने कभी किसी शाकाहारी कंडोम के बारे में सुना है? नहीं ना। खैर आज हम आपको एक नए कंडोम के बारे में बताने वाले हैं जो पूरी तरह से इको फ्रेंडली एवं शाकाहारी है।

दरसा सस्टेन नैचरल ब्रैंड नाम से मार्केट में एक और ‘शाकाहारी’ कॉन्डम आ गया है। कहा जा रहा है कि कॉन्डम का इस्तमाल शाकाहारी कपल भी बिना किसी झिझक के कर सकते हैं, क्योंकि इसमें किसी तरह के ऐनिमल प्रॉडक्ट का इस्तेमाल नहीं किया गया है। इस शाकाहारी’ कॉन्डम को सस्टेन नैचरल ब्रैंड से मार्केट में उतारा गया है। जो पर्यावरण के अनुकूल है।

मीका हॉलंडर जी कि इस कंपनी की सह संस्थापक हाँ, ने बताया, ‘सस्टेन कॉन्डम में प्रयुक्त लैटेक्स दक्षिण भारत में पैदा होने वाले रबड़ से बना है।’ आमतौर पर लोग अपने खाने और मेकअप में प्रयुक्त सामग्री को लेकर सचेत होते हैं लेकिन कॉन्डम जैसे प्रॉडक्ट्स को लेकर वे सचेत नहीं होते, जिसका इस्तेमाल हमारे शरीर के सबसे अंतरंग हिस्से में होता है।

आगे बताते हुए मीका कहती हैं कि दूसरे ब्रैंड के कॉन्डम के साथ साथ मेकअप के सामान में नाइट्रोसमीन को भी मिलाया जा है जिससे कैंसर जैसी बड़ी बीमारी पैदा हो सकती है। इसलिए सस्टेन कॉन्डम में नाइट्रोसमीन का इस्तमाल नहीं किया गया है। इस्तेमाल के बाद फेंके जाने से यह माहौल को विषाक्त नहीं करेगा। जिसके कारण यदि इसे इस्तमाल करने के बाद फेंक भी दिया जाएगा तो इसका असर पर्यावरण में नहीं पड़ेगा।


Tag : ,

चर्चित खबरें

World More Stories