स्मार्टफोन में वायरस की वजह से आपकी बैटरी हो रही है खराब , सबसे ज्यादा इस्तेमाल किया जाने वाला ऑपरेटिंग सिस्टम एंड्रॉयड है। दुनियाभर में करीब एक अरब से ज्यादा एंड्रॉयड यूजर्स हैं। मगर, यह एक ओपन प्लेटफार्म है, जिसमें कोई भी अपना ऐप बनाकर डाल सकता है। हैकर्स इसी रास्ते का इस्तेमाल करके फ्री ऐप बनाते हैं, और उसे डाउनलोड करने के बाद यूजर के फोन से डाटा चोरी करते हैं या उसे वायरस से खराब भी कर सकते हैं।

अगर आपके फोन के बिल में गैरजरूरी एसएमएस चार्ज लग रहा है, तो यह भी वायरस होने के कारण हो सकता है। ऐसे में आपके मोबाइल से प्रीमियम रेट नंबर्स (जिन पर मैसेज भेजने के अतिरिक्त पैसे लगते हैं) पर टेक्स्ट मेसेज भेजे जाते हैं और आपके से इसके पैसे चार्ज किए जाते हैं। यदि आपको फोन को बार-बार चार्ज करना पड़ रहा है और बैटरी लाइफ कम हो रही है, तो यह मोबाइल में वाइरस होने का संकेत है। यदि किसी ऐप के साथ वायरस फोन में आ गया है, तो वह बैटरी लाइफ को कम कर देता है।

Also Read:   सुंदर पिचाई को एक कॉक्रोच ने दी ऐसी सीख कि वो टॉप पर पहुंच गए

कुछ ऐसे ऐप होते हैं, जिनके बारे में आपको जानकारी नहीं होती है और आपने उन्हें डाउनलोड भी नहीं किया होता है, लेकिन वे आपके फोन में डाउनलोड होते हैं। ट्रॉजन मालवेयर के जरिये मोबाइल को नुकसान पहुंचाने वाले एक खुद-ब-खुद डाउनलोड हो जाते हैं। यदि आपको भी इस तरह की समस्या आ रही है, तो संदिग्ध एप्स को डिलीट करने में ही भलाई है। इसके लिए सेटिंग्स में जाएं फिर एप्लिकेशन मैनेजर पर क्लिक करें। जिस ऐप को डिलीट करना है उस पर टैप करें। इसके बाद ऐप की कैश को क्लियर करें और इसके बाद ऐप का डाटा डिलीट कर दें। आखिर में अनइंस्टॉल बटन दबाकर ऐप के फोन से डिलीट कर दें।

Also Read:   अंधेरे में स्मार्टफोन का इस्तेमाल है खतरनाक! हो सकता है अंधापन

इस जालसाजी से बचने के लिए आपको सतर्क रहने की जरूरत है। कुछ बातों को ध्यान में रखकर आप यह पता कर सकते हैं कि कहीं आपके स्मार्टफोन में भी तो वायरस नहीं है। अगर मोबाइल का डाटा ज्यादा खर्च हो रहा है, तो सतर्क हो जाएं। हो सकता है कि आपके स्मार्टफोन में वायरस है। अगर पिछले महीनों की तुलना में इस महीने आपका डाटा यूज अचानक तेजी से बढ़ रहा है, तो आपके फोन में वायरस हो सकता है।

Also Read:   यह है भारी सामान उठाने की सबसे नायाब मशीन, देखें वीडियो

 

 

No more articles