पत्नी के चरित्र पर था पति को शक सिर्फ इसलिए उसको चाकुओं से गोद डाला , वैशाली में एक पति अपनी पत्नी की हत्या कर उसके शव को घर में ही रखकर बाहर से दरवाजा बंद कर उसी घर के दूसरे कमरे में रहता था और भाई के साथ शराब पीकर जश्न मनाता था। लोगों ने पुलिस से घर के कमरे से बदबू आने की शिकायत की तो पुलिस ने धावा बोला, यह देखते ही शराब के नशे में धुत हत्यारे पति के होश उड़ गए।

विवाहिता के पिता धर्मदेव सिंह के बयान पर पुलिस ने हत्या की प्राथमिकी दर्ज की है। पिता ने कहा है कि दहेज में बाइक व सोने के जेवरात के लिए पंकज उसकी पुत्री को प्रताड़ित कर रहा था। होली में आई पुत्री ने उन लोगों को इस बात की जानकारी दी। ससुराल आने पर पंकज को भी उन लोगों ने समझाया था। बावजूद हर दिन पूजा के साथ मारपीट की जा रही थी। आखिरकार उन लोगों ने उसकी हत्या कर दी।

Also Read:   पत्नी 20 और पति 35, उसक बाद हुआ कुछ ऐसा..

जिले के सीता चौक सांची पट्टी मोहल्ला में एक सनकी पति ने अपने भाई के साथ मिलकर अपनी नवविवाहिता पत्नी की तेज धारदार हथियार से गोद-गोद कर हत्या कर दी। भाई के साथ शराब पीकर पत्नी के मरने का रातभर जश्न मनाया। भाई को वह पत्नी का शव ठिकाने लगाने के लिए बुलाया था। नशे में वह भूल गया कि शव ठिकाने लगाना भी है। जब सूचना के बाद वहां पुलिस पहुंची तो आरोपी पति हाथ जोड़कर बैठा रहा।

बुधवार की रात में वह शव को कहीं ठिकाने लगाता इससे पहले ही पड़ोसियों को इस बात की भनक लग गई।पुलिस ने त्वरित कार्रवाई करते हुए हत्यारे पति के साथ उसके भाई को गिरफ्तार कर लिया है। घर में सड़ रहे विवाहिता के शव को भी पुलिस ने बरामद कर लिया है। कमरे से शराब की बोतलें और 4 मोबाइल पुलिस ने बरामद किया है।

Also Read:   तमंचे के बल पर विवाहिता से 5 लोगों ने किया गैंगरेप, अब धमकी देकर बुलाते हैं दूसरी जगह, करते हैं गैंगरेप

लालगंज के मानपुर निवासी 35 वर्षीय पंकज सिंह की नौ माह पहले राघोपुर के फतेहपुर पूर्वी टोला निवासी धर्मदेव सिंह की 24 वर्षीया पुत्री पूजा कुमारी से शादी हुई थी। मोबाइल पर बात करते और एक रिश्तेदार के कथित रूप से बराबर मिलने आने के कारण वह पूजा के चरित्र पर शक करने लगा था।

पंकज नगर थाना क्षेत्र के लालगंज टेम्पू स्टैंड के निकट मोबाइल रिचार्ज की दुकान खोल रखा है। पुलिस को उसने बताया है कि पत्नी को वह मना किया करता था पर वह अपनी हरकत से बाज नहीं आई। आखिरकार उसे रास्ते से हटा दिया।

Also Read:   टीचर की बेटी के साथ चार लड़के माना रहे थे रंगरेलियां! जानें आगे क्या हुआ

हाथ का नस काटकर उसकी हत्या कर दी। शव के बदन पर कई काले निशान पाए गए गए। इससे पुलिस इस नतीजे पर पहुंची है कि मारने से पहले विवाहिता को यातना भी दी गई। बेल्ट अथवा किसी अन्य चीज से बेरहमी से पीटा गया है। हत्या करने के बाद दोनों भाई रातभर शराब पीकर जश्न मनाया।

शराब के नशे वे दोनों भूल गए कि शव को ठिकाने लगाना भी है। सुबह खुमारी टूटी तो इसका एहसास हुआ। शव को ठिकाने लगाने के लिए रात होने का इंतजार करना मुनासिब समझा। शव खराब न हो इसके लिए उसने शव के पैर और सिर की ओर से दो टेबल फैन लगा दिए थे।

No more articles