जब जब प्यार परवान चढ़ा है तब तब समाज के ठेकेदारों ने प्यार करने वालों के लिए तमाम मुश्किलें खड़ी की हैं। लेकिन सच्चे आशिक प्यार में किसी भी अंजाम की परवाह नहीं करते और समाज से लड़ते हुए प्यार की सारी हदों को पार करते जाते हैं। लेकिन आजकल प्यार के अंजाम कुछ ज़्यादा ही खतरनाक होते जा रहे हैं। कहीं इज्ज़त के नाम पर प्रेमियों को मार दिया जाता है तो हैं समाज का हवाला देकर उन्हें अलग कर दिया जाता है। अक्सर लोग मंदिर में अपने प्यार की मन्नतें मांगने के लिए जाते हैं लेकिन एक मंदिर ऐसा भी है जहां प्यार का भूत उतारा जाता है। आज हम आपको बताएँगे इस मंदिर की हक़ीक़त। आइए जानते हैं कि कहाँ है ऐसा मंदिर।

Also Read:   धनतेरस पर ऐसे करें पूजा, घर में निरंतर होती रहेगी उन्नति

दरअसल उत्तर प्रदेश में भी एक ऐसा मंदिर है जहां आशिकी का भूत उतारा जाता है। दरअसल यह मंदिर हनुमानजी का है। यहां कोई भी प्रेमी जोड़ा भूलकर भी अपने कदम नहीं रखना चाहता है।

यह मन्दिर राजस्थान के बालाजी की तर्ज पर तैयार किया गया है। यहाँ पर लोग दूर दूर से अपने परिजनों के सिर पर चढ़े इश्क के भूत से पीछा छुड़ाने आते हैं। मंदिर में सिर पर चढ़े इश्क के बुखार को उतारने के लिए विशेष दिन पर पूजा-अर्चना की जाती है। हर शनिवार और मंगलवार को पूजा और अनुष्ठान के बाद मंदिर के पुजारी आशिक के परिजनों को कुछ उपाय बताते हैं। ऐसा कहा जाता है कि पुजारी के बताए उपायों पर अमल करने से आशिकों के सिर से प्यार का खुमार उतरने लगता है।

Also Read:   बाप रे! यहां हर शख्स पूरे शरीर पर गुदवाता है रामनामी टैटू
No more articles